राजस्थान के मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा का जीवन परिचय : पत्नी, नेट वर्थ, करियर

Rajasthan CM Bhajan Lal Sharma Biography in Hindi:- राजस्थान के नए मुख्यमंत्री, भजनलाल शर्मा, एक ऐसा नाम है, जो इन दिनों सुर्खियों में छाया हुआ है। क्यूंकी यह हाल ही में राजस्थान के 15वें मुख्यमंत्री के रूप में नियुक्त किए है। राजनीति में नए होने के बावजूद, उन्होंने अपने पहले ही प्रयास में मुख्यमंत्री पद तक की शानदार यात्रा पूरी की है। इसलिए राजस्थान के निवासी मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा का जीवन परिचय जानना चाहती है।

आइए मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा का जीवन परिचय एक नज़र डालें, और यह समझें कि कैसे उन्होंने इस मुकाम को हासिल किया। आइये लेख में परिवार, प्रारम्भिक शिक्षा, पत्नी (Wife), बेटा, नेट वर्थ, करियर, Age, मैरिज, wiki आदि के विषय में जानते हैं.

मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा का जीवनी : संक्षिप्त जानकारी

आर्टिकल का नाम भजन लाल शर्मा जी की जीवनी
उम्र (Age)56 साल
जीवनसंगिनी श्रीमती गीता शर्मा
पुत्र का नाम अभिषेक शर्मा
जन्म 15 दिसम्बर 1967
शैक्षणिक योग्यता स्नातकोत्तर
कुल चल संपत्ति1.5 करोड़
राजनीतिक दलभारतीय जनता पार्टी
जन्म स्थान अटारी नदबई भरतपुर
स्थिति राजस्थान के 14वें मुख्यमंत्री

भजनलाल शर्मा का जीवन परिचय एवं शिक्षा

जन्म और परिवार

भजनलाल शर्मा का जन्म 15 दिसंबर 1967 को राजस्थान के जयपुर जिले में हुआ था। यह भरतपुर जिले के नदबई तहसील के गाँव अटारी के रहने वाले है। और इनकी उम्र 56 वर्ष की है। उनके पिता का नाम श्री रामेश्वर शर्मा और माता का नाम श्रीमती सुशीला देवी है। उनके एक भाई और एक बहन हैं।

शिक्षा

भजनलाल शर्मा ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा सांगानेर के सरकारी स्कूल से प्राप्त की। इसके बाद उन्होंने जयपुर के महाराजा सवाई मानसिंह कॉलेज से स्नातक की उपाधि प्राप्त की। उन्होंने जयपुर विश्वविद्यालय से कानून की डिग्री भी प्राप्त की।

राजनीतिक सफर का आरंभ:

भजनलाल शर्मा का राजनीतिक सफर छात्र जीवन से ही शुरू हुआ। उन्होंने जयपुर विश्वविद्यालय के छात्र संघ के अध्यक्ष के रूप में कार्य किया और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की युवा शाखा, भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) में सक्रिय भूमिका निभाई। 2003 में, उन्होंने सांगानेर से विधानसभा चुनाव जीतकर राजनीति में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया।

2003 के बाद, भजनलाल शर्मा ने लगातार 3 बार विधायक के रूप में कार्य किया, जो उनकी लोकप्रियता और प्रभावशाली नेतृत्व का प्रमाण है। भाजपा में उनका कद लगातार बढ़ता गया और 2013 में उन्हें राज्य के महामंत्री का पद सौंपा गया। इस पद पर 4 साल तक कार्य करते हुए उन्होंने पार्टी के संगठन को मजबूत करने और चुनावों में सफलता दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

भजनलाल शर्मा ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत छात्र राजनीति से की। वे 1987 में भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) के सदस्य बने और 1990 में भाजयुमो के जयपुर जिला अध्यक्ष के रूप में चुने गए। 1998 में, उन्हें भाजपा के राज्य महासचिव के रूप में नियुक्त किया गया। इस पद पर रहते हुए, उन्होंने पार्टी के संगठनात्मक मामलों को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

राजस्थान के मुख्यमंत्री के रूप में कार्यकाल

2023 के विधानसभा चुनावों में भाजपा को बहुमत हासिल हुआ और पार्टी ने भजनलाल शर्मा को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया। उनके नाम की घोषणा ने राजनीतिक गलियारों में हलचल पैदा कर दी, क्योंकि वे पहली बार विधायक होने के बावजूद इतने महत्वपूर्ण पद के लिए चुने गए थे।

हालांकि, पार्टी का विश्वास और जनता का समर्थन लेकर 10 दिसंबर 2023 को उन्होंने राजस्थान के 14वें मुख्यमंत्री के रूप में चुने गए। 2023 के राजस्थान विधानसभा चुनाव में, भजनलाल शर्मा को भाजपा ने सांगानेर विधानसभा क्षेत्र से उम्मीदवार बनाया।

उन्होंने कांग्रेस के उम्मीदवार को भारी मतों से हराकर चुनाव जीता। चुनाव के बाद, उन्हें भाजपा विधायक दल का नेता चुना गया और उन्हें राजस्थान का मुख्यमंत्री नियुक्त किया गया।

अपने कार्यकाल की शुरुआत में, उन्होंने राज्य में कानून-व्यवस्था और विकास के मुद्दों पर ध्यान केंद्रित किया। उन्होंने पुलिस बल में सुधार के लिए कई कदम उठाए और राज्य में विकास परियोजनाओं को तेज करने का प्रयास किया।

भजनलाल शर्मा ने राज्य के किसानों के कल्याण के लिए भी कई योजनाओं की घोषणा की। उन्होंने किसानों को सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराने, कृषि उपज की कीमतों में वृद्धि और किसानों को कर राहत देने के लिए कई कदम उठाए।

भजनलाल शर्मा ने राज्य के युवाओं के लिए भी कई योजनाओं की घोषणा की। उन्होंने युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करने, शिक्षा के स्तर में सुधार करने और युवाओं को सशक्त बनाने के लिए कई कदम उठाए।

भजन लाल शर्मा की राजनीतिक उपलब्धियां

मुख्यमंत्री बनते ही भजनलाल शर्मा ने कई महत्वपूर्ण फैसले लिए। उन्होंने राज्य में बिजली संकट को दूर करने के लिए 25,000 करोड़ रुपये की योजना की घोषणा की, बेरोजगारी को कम करने के लिए कई कौशल विकास कार्यक्रम शुरू किए।

और बुनियादी ढांचे के विकास के लिए बड़े पैमाने पर परियोजनाओं को लागू किया। उनकी सरकार ने शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्रों में भी कई सुधार किए हैं।

भजन लाल शर्मा एक भारतीय राजनीतिज्ञ हैं, जो कि राजस्थान के मुख्यमंत्री के रूप में चुने गए हैं। राजस्थान विधानसभा के सदस्य के रूप में सांगानेर विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं। उन्होंने 4 बार BJP के राज्य महासचिव के रूप में भी कार्य किया।

  • 1987 में, उन्होंने नदबई में विद्यार्थी परिषद के तीन दिवसीय अभ्यास वर्ग में भाग लिया। इस दौरान वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से जुड़ गए।
  • 1990 में, उन्होंने कश्मीर मार्च में भाग लिया और उधमपुर में गिरफ्तारी दी।
  • 1991-92 में, उन्हें भाजयुमो की जिम्मेदारी दी गई।
  • 1992 में, वह श्रीराम जन्मभूमि आंदोलन में शामिल हुए और जेल गए।
  • 2000 में, वह 27 वर्ष की उम्र में अटारी सरपंच बने।
  • 2010 से 2015 तक, वह अटारी पंचायत समिति सदस्य रहे।
  • 2009 से 2014 तक, वह भाजपा भरतपुर के जिलाध्यक्ष रहे।
  • 2014 में, उन्हें भाजपा का प्रदेश उपाध्यक्ष बनाया गया।
  • 2016 में, उन्हें भाजपा का प्रदेश महासचिव बनाया गया।

निष्कर्ष

आज के इस लेख में हमने भजनलाल शर्मा का जीवन परिचय के बारे में जानकारी प्राप्त की, जो की अभी राजस्थान के मुख्यमंत्री है। उम्मीद है की इस लेख के माध्यम से आपको भजनलाल शर्मा जी के बारे में सभी आवश्यक जनकारियाँ मिल पायी होंगी।

यदि आप किसी अन्य राज्य के मुख्यमंत्री का जीवनी जानना चाहते है तो हमे कमेंट करके जरूर बताएं। यदि आपके लिए यह लेख उपयोगी रहा हो तो इसे अन्य दोस्तो के साथ भी साझा करें।

यह भी पढ़ें : केनरा बैंक बैलेंस चेक कैसे करें

FAQ –

भजन लाल जी की शादी हो चुकी है ?

जी हाँ, भजन लाल जी की शादी श्रीमती गीता शर्मा जी से हुआ है.

भजन लाल शर्मा जी का जन्म कब हुआ था ?

इनका जन्म 15 दिसम्बर 1967 को हुआ था.

Leave a Comment